ट्रक के चपेट मे आने से पत्नी की मौत, बाल बाल बचे पति

July 5, 2021
341
Views

PATNA: BIHAR

पालीगंज सोमवार को स्थानीय बाजार स्थित बाजार स्थित राजकीय 10+2 उच्च विद्यालय के सामने पटना से ईलाज करावा बाईक से अपने घर लौट रहे एक दम्पति ट्रक के चपेट में आ गया। इस हादसे में पत्नी की मौत घटनास्थल पर हो गयी वही पति बाल बाल बच गया। इस घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके वरदाद पर पहुँचकर शव को कब्जे मे ले लिया व कानूनी प्रक्रिया पूरी कर पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज अनुमंडल अस्पताल भेज दिया। वही पुलिस मामले की जाँच मे जुटि है l

जानकारी के अनुसार पालीगंज थाना क्षेत्र के मखमिलपुर गांव निवासी शिव मिश्रा अपनी पत्नी के साथ बाइक पर सवार होकर सोमवार की सुबह पटना से अपने घर आ रहा था। जैसे ही वह पालीगंज बाजार स्थित राजकीय उच्च विद्यालय के गेट के पास सड़क पर पहुंचा की बाइक बगल में मछली बेंचनेवालो के द्वारा सड़क पर गिराए गए पानी के कारण फिसलकर गिर पड़ा। इस दौरान बाइक पर सवार पत्नी रम्भा मिश्रा वहां से गुजर रहे ट्रक के पिछले चक्के के नीचे चली गयी। जिससे रम्भा मिश्रा की घटनास्थल पर चक्के से दबकर दर्दनाक मौत हो गयी। जबकि पति शिव मिश्रा बाल बाल बच गया। जिसकी जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पालीगंज पुलिस शव को कब्जे में ले लिया व कानूनी प्रक्रिया पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज अनुमंडल अस्पताल भेज दिया। बताया जा रहा है कि दोनों पति पत्नी रविवार को इलाज करवाने पटना गया था। जहां से लौटते समय यह हादसा सोमवार की सुबह पालीगंज में हो गयी।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यह घटना पालीगंज अनुमंडल बाजार की सड़कों पर हो रहे अतिक्रमण के कारण हुई है। लोगो की माने तो वहां पर सड़क की चौड़ाई 24 फुट है। लेकिन एक ओर मछली बेंचनेवालो के पास जमघट लगी रहती है तो दूसरी ओर ठेले व खेमचेवाले बेतरतीब तरीके से अपनी अस्थाई दुकान लगाए रहता है। जिससे मात्र आवागमन के लिए 8 फुट सड़क की चौड़ाई बची रहती है। साथ ही मछली बेचनेवाले पानी गिराकर सड़को को किचकिच कर देता है। यह स्थिति केवल घटनास्थल की ही नही बल्कि पूरे बाजार से गुजरनेवाली मुख्य सड़क की है। जगह जगह पर गाड़ियों की अवैध पार्किंग तथा वाहन पड़ाव के कारण सड़क तंगहाली झेल रही है तो बीच बाजार में शब्जी मंडी होने के कारण सड़को पर प्रतिदिन जाम की समस्या बनी रहती है। यहां तक कि थाने के आसपास तथा मुख्य गेट पर भी अतिक्रमण हो रही है। जिससे हमेशा हादसे होने की संभावना बनी रहती है। फिर भी प्रशासन चुप्पी साधे रहती है। प्रशासन की क्या मजबूरी है यह आम लोगो की समझ से बाहर है।

वही घटना के बाद घटनास्थल पर सैकड़ो की संख्या मे जुटे लोगो ने प्रशासन के विरुद्ध नाराजगी प्रकट करते हुए बताया कि बाजार की सड़कों से कब अतिक्रमण हटेगी यह कह पाना मुश्किल है। जबतक बाजार की सड़कें अतिक्रमणमुक्त नही होगी बाजार की सड़कों पर भीड़ जमा होना स्वभाविक है। और ऐसी स्थिति में हादसे को रोका नही जा सकता।

पालीगंज से वेद प्रकाश की रिपोर्ट,

जीएन पुस्तकालय सह संग्रहालय पहुंचे भूबैज्ञानिक ने किया पुरातत्वो का अवलोकन

Article Categories:
बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, spreadsheet, interactive, text, archive, code, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.